बीसवी शताब्दी में पूँजीवाद और समाजवाद: ओशो के विचार के सन्दर्भ में

शैलेन्द्र कुमार शर्मा

Abstract


बीसवी शताब्दी में  सम्पूर्ण विश्व में दो अर्थव्यवस्थाओं ने जनम लिया - पूंजीवाद व  समाजवाद। इन दोनों ही विचारधाराओ का द्वंद लगातार चलता रहा है।

Full Text:

PDF

Refbacks

  • There are currently no refbacks.